सेरोगेसी की मदद से जो भी दम्पत्ति बच्चा पाने का इच्छुक है उनको सेरोगेसी महिला का Health Insurance करवाना पड़ेगा। 

केंद्र सरकार ने सरोगेसी के मामलों के लिए नये अधिनियमों की सुचना जारी की है। 

दम्पत्ति को इच्छुक सरोगसी मदर का तीन साल का Health Insurance करवाना पड़ेगा। 

ताकि इस बिमा राशि का फायदा महिला को प्रसव से पूर्व होने वाली जरूरतों को पूरा कर सके। 

सेरोगेसी से जुडी कई शिकयतें सामने आती थी जिसमे महिला को प्रसव के बाद अधर में छोड़ दिया जाता था। 

जिसके चलते केंद्र सरकार ने ये कदम उठाया और नये नियम लागु किये। 

यदि प्रसव के दौरान महिला की मृत्यु हो जाती है तो बिमा की राशि महिला के परिवार वालो को मिलेगी। 

इससे पहले सरोगसी से जुड़ा कोई नियम न होने के चलते कई गरीब महिलाओं का शोषण हुआ है। 

लेकिन इस नियम के तहत अब कोई भी महिला सेरोगेसी की प्रक्रिया तीन बार से अधिक नहीं कर सकती।